Dharm Path -ब्राह्मण स्वाभिमान से अब समझौता नहीं – पंडित अधीर कौशिक

WhatsAppFacebookTwitterLinkedIn

ब्राह्मण समाज के प्रति सुनियोजित तरीके से फैलाई जा रही नफरत और दुर्भावना से आहत ब्राह्मण समाज के सब्र का बांध अब टूटता दिखाई पड़ रहा है।  दिखाई पड़ रहा है की सनातन धर्म के कर्णधार ब्राह्मण, सनातन धर्म और भारतीय संस्कृति की समाज की निस्वार्थ भाव से सेवा करने वाले परोपकारी ब्राह्मण अब किसी भी स्तर पर अपने आत्मसम्मान से, स्वाभिमान से समझौता नहीं करेंगे यह संदेश स्पष्ट रूप से जाहिर है।

Brahmin being the backbone of Sanatan Dharm in India is widely criticized and have faced attacks from every nook and corner but being the most evolved and learned class they never harmed anyone back. Yet it seems that many a people takes this humility of them as weakness thats a myth about the power of Brahmins – Pandit Adhir Kaushik.

ब्राह्मण ने हर युग में देव हो, प्रकृति हो, जीव जंतु हो अथवा मनुष्य, सभी के प्रति अपने कर्तव्य का निर्वहन पूरी पवित्रता और निष्ठा से किया है किंतु आज समाज ब्राह्मण के बलिदान को दुत्कार रहा है जहां देखो वहां ब्राह्मण का तिरस्कार किया जा रहा है।

शुरुआत भारत के लुटेरे जेहादी आतंकी इस्लामी घुसपैठियों ने की, फिर अंग्रेज आए, मुस्लिम बहुल वाले फिल्मी लेखकों ने ब्राह्मणों की छवि धूमिल करने में कोई कसर नहीं छोड़ी, हिंदू समाज के ही कुछ तबकों ने अपने लालच और लिप्सा में ब्राह्मणों का बहिष्कार किया इस सबको ब्राह्मण समाज ने बड़ा हृदय रखते हुए हर बार क्षमा कर दिया लेकिन ब्राह्मण का अपमान तो आज के निकृष्ट समाज की आदत बन चुकी है

ना तो कोई अपने बर्ताव पर शर्मिंदा होता दिखाई पड़ता है ना ही प्रशासन या न्यायपालिका ब्राह्मणों के सम्मान को बचाने के लिए कोई प्रयास करती दिखाई दी है। एसटी ओबीसी एससी एक्ट की आड़ में ब्राह्मण और अन्य समाज को प्रताड़ित किया जाता है।

श्री अखंड परशुराम अखाड़ा आज ब्राह्मण समाज  की इसी लड़ाई का ऊर्जा स्रोत्र बन कर सामने आया है और ब्राह्मणों पर हो रहे अत्याचारों पर समाज को जागृत कर रहा है। विश्व के सभी ब्राह्मणों को जोड़ने का वृहत कार्य भी बहुत तेज़ी से आगे बढ़ रहा है इसकी पुष्टि हुई है अभी हाल ही में ब्राह्मण समाज द्वारा चलाए गए ब्राह्मण स्वाभिमान अभियान से। 

श्री अखंड परशुराम अखाड़ा के अधिष्ठाता एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित श्री अधीर कौशिक जी द्वारा युद्धस्तर पर ग्लोबल ब्राह्मण समाज स्वाभिमान जागरण अभियान में शास्त्रोक्त विधान से संस्कृति संयोजन का यह कार्य किया जा रहा है। 

ब्राह्मण सम्मान पर्व के आयोजन के बाद  24 सितंबर 2023 को ब्राह्मण महाकुंभ का भव्य दिव्य आयोजन बेहद धूमधाम से देव नगरी हरिद्वार में किया गया। हजारों की संख्या में पहुंचे ब्राह्मण युवाओं के अदम्य अद्भुत शक्ति प्रदर्शन से निश्चित ही विधर्मीयो के कलेजे हिल गए होंगे। 

पंडित अधीर कौशिक स्वयं शास्त्र शस्त्र के परम ज्ञानी रहे हैं इन्ही की पहल पर अब अखाड़ों की वास्तविक प्राचीन विद्याओं को पुनर्जीवित किया जा रहा है। अखंड परशुराम अखाड़ा केवल प्रवचन मात्र पर रुकने वाला मूकदर्शक अखाड़ा नहीं है। सत्य सनातन, संत और ब्राह्मण समाज को अपमानित करने वालों को उन्ही की भाषा में जवाब देना जानता है। 

23 सितंबर को हुई विशाल ध्वज यात्रा से ही विधर्मियों और फर्जी गैर सनातनी साधुओं के खेमे में बड़ी हलचल दिखाई दी। हरिद्वार की पावन सड़के काले डब्बों से खाली नजर आईं । अब इंतजार ये है की कब इन मलेच्छों से देवभूमि को पूर्ण आजादी मिलेगी। 

श्री अखंड परशुराम अखाड़े के राष्ट्रीय प्रवक्ता, भगवदाचार्य पंडित श्री पवन कृष्ण शास्त्री ने अखाड़े के संदेश को प्रसारित करते हुए कहा कि आज ब्राह्मण को अपनी शक्ति पहचानने की जरूरत है। जिस प्रकार से सनातन संस्कृति का अपमान किया जा रहा है ब्राह्मण समाज को संगठित होकर इस सब का सामना करने की आवश्यकता है। 

अखाड़े के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित श्री अधीर कौशिक जी ने ब्राह्मण महाकुंभ को ब्राह्मण एकता अभियान में ऐतिहासिक महत्व के आयोजन का समकक्ष बताया। पंडित अधीर कौशिक के अथक परिश्रम एवं सतत प्रयासों ने विगत कुछ वर्षों में बहुत ही विशाल स्टार पर इसी प्रकार के आयोजन किए जा रहे हैं जिससे ब्राह्मण समाज को बल मिला है। ब्राह्मण उत्थान के लिए एक साथ मिल कर चलना होगा। 

आयोजन का अंतरराष्ट्रीय उदघोष ही है ब्राह्मण महाकुंभ जो संगठित है सुरक्षित है। 

ब्राह्मण महाकुंभ में अनेकानेक महान विभूतियों ने सक्रिय भूमिका निभाई है जिनमे प्रमुख रूप में श्री निलेश गौतम, लोकेश भारद्वाज, विनोद मिश्रा, भारत शर्मा, अजय कौशिक, लवली शर्मा, पंडित नितिन, शीतल उपाध्याय, कुलदीप शर्मा है। श्री बाबा हठयोगी जी एवं स्वामी श्री अग्निवेश प्रपन्नाचार्य जी महाराज सहित सभी राष्ट्रीय अंतराष्ट्रीय संतों का दिव्य आशीर्वाद एवं सहयोग चिरंजीवी भगवान श्री परशुराम अखाड़े को मिल रहा है। 

Share Reality:
WhatsAppFacebookTwitterLinkedIn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *