Med Alert -बिना इजाजत मरीज को ICU में भर्ती नहीं कर सकते अस्पताल

WhatsAppFacebookTwitterLinkedIn

बिना परिजनों की इजाजत मरीज को आईसीयू में भर्ती नहीं कर सकते अस्पताल. Central govt. have passed strict instructions of ICU policies of hospitals after numerous complaints have been registered for fat ICU bills and harassment. It is mandatory from now to take prior permission of patient’s family to shift a patient to ICU.

-गहन चिकित्सा इकाई को लेकर केंद्र सरकार ने जारी किए दिशा-निर्देश

नई दिल्ली, देश में पहली बार केंद्र सरकार ने गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) के तहत इलाज के लिए मरीज की जरूरत के हिसाब से फैसला लेने हेतु अस्पतालों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इसके तहत अस्पताल गंभीर रूप से बीमार मरीजों को उनके या उनके परिजनों के मना करने पर गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में भर्ती नहीं कर सकते।

यह दिशा-निर्देश 24 विशेषज्ञों की पैनल ने तैयार किया है। पैनल ने उन मेडिकल हालातों की सूची बनाई है, जिनके तहत मरीज को आईसीयू में रखने की जरूरत होती है। इसमें कहा गया है कि यदि लाइलाज मरीज या रोग का इलाज संभव नहीं हो तो ऐसे मरीज को आईसीयू में नहीं रखा जा सकता।

बड़ी सर्जरी वाले मरीजों को भी आईसीयू में भर्ती करें : सर्जरी के बाद के मामलों में हालत बिगड़ने की संभावना और बड़ी सर्जरी जटिलता वाले लोगों को भी आईसीयू में भर्ती करने की सिफारिश की गई है। साथ ही उन मरीजों को इस सूची से बाहर रखने की सिफारिश की गई है, जिनको इसकी खास जरूरत नहीं है या फिर उनकी हालत सुधरने की कोई खास गुंजाइश नहीं है। दिशानिर्देशों में यह भी कहा गया है कि किसी मरीज को आईसीयू में भर्ती करने का मानदंड अंग की विफलता और अंग समर्थन की जरूरत या चिकित्सा स्थिति में गिरावट की आशंका पर आधारित होना चाहिए।

मापदंडों की निगरानी जरूरी : दिशा-निर्देशों के तहत आईसीयू बिस्तर की प्रतीक्षा कर रहे मरीजों में रक्तचाप, नाड़ी की दर, श्वसन दर, श्वास पैटर्न, हृदय गति, ऑक्सीजन संतृप्ति और न्यूरोलॉजिकल स्थिति सहित अन्य मापदंडों की निगरानी डॉक्टरों द्वारा की जानी चाहिए। गाइडलाइंस को बनाने में शामिल एक विशेषज्ञ ने कहा कि आईसीयू एक सीमित संसाधन है। इन सिफारिशों का मकसद इसका विवेकपूर्ण उपयोग सुनिश्चित करना है, ताकि जिन लोगों को इसकी सबसे ज्यादा जरूरत है, उन्हें यह प्राथमिकता पर मिल सके।

Share Reality:
WhatsAppFacebookTwitterLinkedIn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *