Global News -राष्ट्रपति बाइडेन के बेटे हंटर को ग्रैंड जूरी ने कर चोरी का दोषी ठहराया

WhatsAppFacebookTwitterLinkedIn

वाशिंगटन, राष्ट्रपति जो बाइडेन के पुत्र हंटर बाइडेन को अब कर चोरी के मामले में दोषी ठहराया गया है। अमेरिका के प्रमुख अखबार द न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार कैलिफोर्निया में एक ग्रैंड जूरी ने 56 पन्नों के अभियोग पर गुरुवार को सुनवाई की। American President Joe Biden’s son Hunter is convicted guilty in tax matter.

अखबार के अनुसार ग्रैंड जूरी ने हंटर को मूल्यांकन की चोरी, कर दाखिल करने और भुगतान करने में विफलता और धोखाधड़ी वाले कर रिटर्न दाखिल करने के आरोप में दोषी ठहराया है। फिलहाल इस पर व्हाइट हाउस की कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले हंटर बाइडेन पर गन मामले में फंस चुके हैं।इस पर व्हाइट हाउस ने प्रतिक्रिया दी थी कि अगर हंटर को दोषी ठहराया जाएगा तो बाइडेन उन्हें माफ नहीं करेंगे।

काठमांडू एयरपोर्ट पर 14 किलोग्राम सोना बरामद, नहीं रुक रही तस्करी

काठमांडू, 08 दिसंबर (वेब वार्ता)। नेपाल में सोने की तस्करी रुक नहीं पा रही। काठमांडू में दो दिन पहले तस्करी कर लाए गए आठ किलोग्राम सोने की जांच चल ही रही थी कि गुरुवार रात 14 किलो सोने की तस्करी का एक नया मामला सामने आया है। पुलिस का कहना है कि गुरुवार रात 11:56 बजे फ्लाई दुबई की फ्लाइट एफजेड 573 से काठमांडू उतरे गोरखा जिला निवासी चंद्र बहादुर घले को गिरफ्तार कर लिया गया है। कस्टम टीम ने घले के पास से 14 किलोग्राम सोना बरामद किया गया है। साथ ही घले से पूछताछ के आधार पर काठमांडू के धुम्बाराही इलाके से मीन बहादुर घले को भी हिरासत में लिया गया है।

फिलीपींस : रविवार के स्कूल विस्फोट से जुड़े मामले में एक संदिग्ध गिरफ्तार

मनीला, फिलीपींस के सुरक्षा बलों ने रविवार को एक विश्वविद्यालय के जिम में हुए बम विस्फोट से जुड़े एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया है। इस घटना में चार लोगों की मौत हो गई थी और 50 अन्य घायल हो गए थे। एक सैन्य प्रवक्ता ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। फिलीपींस के सशस्त्र बल के सार्वजनिक मामलों के प्रमुख ज़ेरक्स त्रिनिदाद ने पुरुष संदिग्ध को “सहयोगियों में से एक” करार दिया। उन्होंने संदिग्ध की गिरफ्तारी के विवरण के बारे में विस्तार से नहीं बताया। अधिकारियों ने पहले रुचि रखने वाले दो लोगों की पहचान की थी जिन्होंने कथित तौर पर मिंडानाओ द्वीप पर मरावी शहर में मिंडानाओ स्टेट यूनिवर्सिटी के जिम के अंदर एक सीट के नीचे विस्फोटक रखा था। विस्फोट में कैथोलिक सेवा में भाग लेने वाले सैकड़ों छात्रों और शिक्षकों को निशाना बनाया गया।

इज़रायल की सेना ने गाजा में दर्जनों फ़िलिस्तीनियों को किया गिरफ़्तार

गाजा, इजरायली सेना ने गुरुवार को उत्तरी गाजा पट्टी के बेत लाहिया शहर में कार्रवाई के दौरान दर्जनों फिलिस्तीनियों को गिरफ्तार कर लिया। फिलिस्तीनी सूत्रों ने यह जानकारी दी। फिलिस्तीनी सुरक्षा सूत्रों ने ‘शिन्हुआ’ को बताया कि इजरायली सैनिकों ने बेइत लाहिया में आवासीय इलाकों पर हमले के दौरान गिरफ्तारियां कीं। स्थानीय प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि इजरायली सैनिकों ने पूछताछ के दौरान जानबूझकर बंदियों के कपड़े उतार दिए। इज़रायली सेना ने भी पुष्टि की कि उसके सैनिकों ने गाजा पट्टी में घुसपैठ के दौरान दर्जनों फिलिस्तीनी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया। एक अन्य घटनाक्रम में इजरायली सेना ने घोषणा की कि कुछ दिन पहले एक इजरायली लड़ाकू विमान ने गाजा पट्टी में सभी टोही अभियानों के लिए जिम्मेदार हमास के सैन्य खुफिया प्रमुख अब्देल अजीज अल-रंतीसी को मार गिराया। अभी तक हमास ने इज़रायली दावे पर कोई टिप्पणी नहीं की है। इज़राइल पर 7 अक्टूबर को हमास के अचानक हमले के जवाब में इज़रायल गाजा में बड़े पैमाने पर हवाई हमले और जमीनी हमले कर रहा है।

अमेरिका: तस्करी और जबरन मजदूरी कराने के मामले में भारतीय व्यक्ति को कारावास की सजा

वाशिंगटन, अमेरिका के जॉर्जिया में एक मोटल के भारतीय प्रबंधक को एक महिला की तस्करी करने और उससे बंधुआ मजदूरी कराने के आरोप में 57 महीने कारावास की सजा सुनाई गई है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

अदालती दस्तावेजों के मुताबिक, भारतीय नागरिक और अमेरिका के वैध स्थायी निवासी श्रीश तिवारी (71) ने जॉर्जिया के कार्टर्सविले में बजटेल मोटल का प्रबंधन 2020 में शुरू किया था।

न्याय विभाग ने एक बयान में बताया कि तिवारी ने महिला को मोटल में काम पर रखा और उसे रहने के लिए एक कमरा उपलब्ध कराया।

तिवारी को पता था कि पीड़िता पहले से बेघर थी, वह पहले हेरोइन की लत से जूझ चुकी थी और उसके बच्चे का संरक्षण भी उससे ले लिया गया था।

बयान में कहा गया कि तिवारी ने पीड़िता से वादा किया कि वह उसे वेतन एवं एक अपार्टमेंट देगा और एक वकील उपलब्ध कराकर उसके बच्चे का संरक्षण वापस लेने में उसकी मदद करेगा।

संघीय अभियोजकों ने आरोप लगाया कि तिवारी ने अपने वादों को पूरा करने के बजाय मोटल के मेहमानों और कर्मचारियों के साथ पीड़िता की बातचीत पर नजर रखनी शुरू कर दी और उसे उनसे बात करने से मना कर दिया।

अभियोजकों ने कहा कि तिवारी ने पीड़िता के साथ जबरन यौन संबंध बनाए और वह उसे मोटल में दिए गए कमरे से बाहर निकालने की अक्सर धमकी भी देता था।

जॉर्जिया के नॉर्दर्न डिस्ट्रिक्ट के अमेरिकी अटॉर्नी रयान के. बुकानन ने कहा, ”तिवारी ने यह जानने के बावजूद अपने पद का इस्तेमाल कर पीड़िता का बेरहमी से उत्पीड़न किया कि वह पहले से ही असहनीय पीड़ा झेल चुकी है।”

अदालत ने तिवारी को दोषी ठहराते हुए उसे 57 महीने कारावास की सजा सुनाई और उस पर करीब 40,000 अमेरिकी डॉलर का जुर्माना भी लगाया।

Share Reality:
WhatsAppFacebookTwitterLinkedIn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *