PMO -मोदी लखपति महिला चंदा देवी के भाषण के हुए मुरीद, पूछा-चुनाव लड़ोगी क्या

WhatsAppFacebookTwitterLinkedIn

वाराणसी (उप्र), प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने सोमवार को विकसित भारत संकल्प यात्रा के तहत विभिन्न सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों से संवाद किया और उन्हें विकास की दिशा में आगे कदम बढ़ाने के लिए प्रेरित किया। Pm Modi had an open conversation with the beneficiaries of ‘Viksit Bharat Sankalp Yatra’ alongside Uttar Pradesh CM Shri Yogi ji.

मोदी ने चंदा देवी नाम की एक लखपति महिला से पूछा कि तुम इतना बढ़िया भाषण दे रही हो, क्या चुनाव लड़ोगी।

बाद में बरकी में आयोजित रैली को संबोधित करते हुए भी प्रधानमंत्री मोदी ने चंदा देवी का जिक्र किया। उन्होंने कहा, ”आज चंदा देवी का भाषण सुना। मैं कह सकता हूं कि बड़े-बड़े लोग इतना अच्छा भाषण नहीं दे सकते। वह हमारी लखपति दीदी हैं।”

प्रधानमंत्री ने कहा, ”आज मैंने उनसे (चंदा देवी) बातचीत की। उनसे पूछा तो सटीक जवाब दिया। इस संकल्प यात्रा से मुझे और सभी साथियों को समाज के भीतर की शक्ति व सामर्थ्य को जानने का अवसर मिला है।”

अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे के दूसरे दिन मोदी वाराणसी के सेवापुरी विकासखंड के बरकी गांव में विकसित भारत संकल्प यात्रा में शामिल हुए। ‘अपनी कहानी-अपनी जुबानी’ शीर्षक के तहत आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने लाभार्थियों से सीधा संवाद किया।

सबसे पहले उनसे रामपुर गांव की महिला चंदा देवी मुखातिब हुईं। चंदा देवी ने प्रधानमंत्री को प्रणाम करने के साथ ही उनका स्वागत किया। ‘राधा महिला सहायता समूह’ की चंदा ने बताया कि उनके परिवार में कुल पांच सदस्य हैं और समूह से जुड़ने से पहले उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी, इसलिए उनका रहन-सहन, खान-पान, शिक्षा व्यवस्था ठीक नहीं थी।

चंदा देवी ने कहा कि एक दीदी ने उन्हें समूह के बारे में जानकारी दी और इस समूह से जुड़कर कर्ज ले सब्जी की खेती शुरू की और उन्हें 30 हजार रुपये मुनाफा हुआ। चंदा देवी ने कहा कि मुनाफा राशि में से उन्होंने 15 हजार रुपये का कर्ज चुकाया और खेती के कार्य को आगे बढ़ाया जिससे आर्थिक स्थिति सुधरी और जीवन स्तर बेहतर हुआ। उन्होंने कहा कि वह फिर बैंक सखी बनकर कार्य करने लगी और आर्थिक स्थिति में सुधार के साथ साथ आत्मनिर्भर हो गयीं।

चंदा देवी ने बताया कि वह अब एक साल में एक लाख 30 हजार रुपये की बचत करती हैं और उन्होंने इसका श्रेय प्रधानमंत्री को दिया। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री से महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने का अनुरोध किया।

मोदी ने उनसे पूछा कि चंदा देवी आपने कहां तक पढ़ाई की है? जिस पर उन्होंने जवाब दिया कि मैं ‘इंटर’ पास हूं। मोदी ने कहा कि आप इतना बढ़िया भाषण करती हो, कभी चुनाव लड़ी हो। चंदा देवी ने कहा कि नहीं सर, तो मोदी ने पूछा कि चुनाव लड़ोगी।

चंदा देवी ने कहा कि ”हम आपसे प्रेरित होते हैं। आप जो प्रयास करते हैं, उससे हम कदम मिलाकर चलते हैं। यह हमारा सौभाग्य है कि आपके सामने हम बोल रहे हैं।”

प्रधानमंत्री ने उनके बच्चों और परिवार के बारे में भी जानकारी ली।

प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘मेरा संकल्प है कि देश में दो करोड़ माताओं-बहनों को लखपति बनाना है। आपकी बात सुनकर वह लखपति दीदी बनेंगी।’

मोदी ने चंदा देवी के समूह को एक जिम्मेदारी सौंपी। शादी विवाह में खड़े खड़े खाने के रिवाज में बर्बाद होने वाले खाने को बचाने के लिए खाना परोसने की सलाह दिया।

उन्होंने स्वच्छता अभियान पर जोर देते हुए कूड़े से खाद बनाने और पशुपालन की भी सलाह दी।

आयुष्‍मान भारत के लाभार्थी ग्राम डिहवा निवासी छन्‍नू लाल ने प्रधानमंत्री को बताया कि 2005 में वह पेड़ से गिर गये और उनके बायें कूल्हे की हड्डी टूट गयी थी।

लाल ने बताया कि पैसों के अभाव में वह उपचार नहीं करा पा रहे थे, क्योंकि निजी अस्पतालों में उनसे डेढ़ से दो लाख रुपये मांगे जा रहे थे। उन्होंने बताया कि इस बीच आशा दीदी ने उनका आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनवाया जिससे एक बड़े अस्पताल में उस कार्ड से उनका मुफ्त इलाज हुआ। छन्‍नू लाल ने इसके लिए प्रधानमंत्री के प्रति आभार जताया।

मोदी द्वारा ऑपरेशन के समय के बारे में पूछे जाने पर उसने कहा कि सितंबर मे यह (ऑपरेशन) हुआ। इस पर प्रधानमंत्री ने उन्हें सलाह दी कि ‘मोदी की गारंटी वाली गाड़ी’ से लोगों का आयुष्मान कार्ड बनवाइये, सबकी मदद करिए।

प्रधानमंत्री मोदी ने लखपति महिला चंदा देवी समेत कई बच्चों को सम्मानित भी किया। इस दौरान मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ भी मौजूद थे।

Share Reality:
WhatsAppFacebookTwitterLinkedIn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *